मुंबई में लोकप्रिय हैं घंटावाला पान मंदिर के बीड़े

Tobacco Plus > News & Blogs

login Sign In

मुंबई में लोकप्रिय हैं घंटावाला पान मंदिर के बीड़े

मुंबई के बोरीवली का घंटा वाला पान मंदिर काफी मशहूर है। यहां का पान तो लाजवाब है ही साथ ही इसे पेश करने का अंदाज भी काफी दिलचस्प है। यहां पान का बीड़ा तैयार होते ही टन से घंटे की आवाज होती है। इसी से ग्राहक समझ जाता है कि उसका पान तैयार हो गया और वह उसे लेने के लिए हाथ आगे बढ़ा देता है। इस समय इस दुकान को विनोद कुमार तिवारी चला रहे हैं। बताते हैं कि तिवारी जी के दादा जी ने पान की दुकान पुणे में सन 1933 में स्थापित की थी। फिर तिवारी जी के पिता ने सन 1972 में बोरीवली में घंटावाला पान मंदिर के नाम से यह ुदुकान खोली। 44 वर्ष पुरानी इस दुकान के बारे मेंं मुंबई में रहने वाले सभी लोग जानते हैं। बाहर का कोई व्यक्ति जब इस दुकान का नाम सुनता है तो उसे लगता है कि किसी मंदिर के बारे में बात हो रही है, लेकिन जब उसे यह पता चलता है कि पान की दुकान के बारे में बात हो रही है तो वह हैरत में पड़ जाता है। तिवारी जी बताते हैं कि जब उनके दादा जी पुणे में पान की दुकान स्थापित कर रहे थे तो उनके किसी मित्र ने यहां घंटा लगाने का सुझाव दिया था। उन्होंने अपने मित्र का सुझाव मान कर दुकान में घंटा लगा दिया और इसी घंटे की ध्वनि ने इस दुकान को प्रसिद्धि दिलाई। तिवारी जी ने इस परंपरा को आगे बढ़ाया। न उन्होंने अपनी दुकान पर एक से बढ़ कर एक घंटियों का संकलन कर लिया। मौजूदा समय में उनके पास करीब 450 घंटियां हैं, जो उन्होंने 169 देशों से इकट्ठा की हैं। तिवारी जी और इनकी दुकान का नाम गिनीज बुक ऑफ वल्र्ड रिकार्ड में भी दर्ज चुका है।

घंटावाला पान मंदिर जितना नाम दिलचस्प है, उताने ही लजीज यहां के बीड़े होते हैं। तिवारी जी करीब 150 फ्लेवर के पान तैयार करते हैं। सुबह से लेकर देर शाम तक इनकी दुकान पर ग्राहकों की लाईन लगी रहती है। यहां चाकलेट, आरेंज, पाइनएप्पल समेत ढेरों वेरायटियां मिलती हैं। यहां सभी बड़ी कंपनियों के उत्पाद मौजूद हैं। पान चटनी के सभी मशहूर ब्रांडों का इस्तेमाल होता है। पान के पत्तों से लेकर बीड़ों में पडऩे वाली अन्य सामग्री उच्च कोटि की होती है। उल्लेखनीय है कि मौजूदा समय में महाराष्ट्र में तंबाकू पर रोक लगी हुई हैं, इसलिए कारोबार पर थोड़ा असर पड़ा है। इस स्थिति से निपटने के लिए ही इन्होंने मीठे और सादे पान की कई वेरायटियां विकसित कर दी हैं। वे मुंबई में काफी लोकप्रिय हैं। महानगर में काफी दूर के इलाकों में रहने वाले लोग इनका पान खाने आते हैं। दफ्तरों में काम करने वालों से लेकर कारोबारी और यहां तक कि बालीवुड के भी तमाम लोग घंटावाला पान मंदिर का पान पसंद करते हैं। शनिवार व रविवार छुट्टियों के दिन यहां देर शाम ग्राहकों की भीड़ दिखाई पड़ती है। लोग जब घूमने फिरने निकलते हैं तो तिवारी जी का पान खाने जरूर आते हैं। इस दुकान के करीब पहुंचते ही बेहतरीन किस्म की सुगंध का एहसास होने लगता है। यह सुगंध इतनी

अच्छी होती है कि पान खाने वाले व्यक्ति का मन मचल उठता है। तिवारी जी काफी व्यवहार कुशल व्यक्ति हैं। यही कारण है कि उनके पिता जी के समय के जो नियमित ग्राहक थे, उनमें से कई लोग आज भी यहां पान खाने आते हैं।


Crop Ghantawala Pan Mandir

Behind Kapoor Building, Chanda Warkar road,

Om shanti chowk, Borivali West,

Mumbai – 400092

Ph: 022-28922032